हिंदी बीएफ देखने वाली

चेहऱ्याला कोरफड कशी लावायची

चेहऱ्याला कोरफड कशी लावायची, मनु, काया की बात सुन कर वहाँ से चुप-चाप जाने लगा, तभी काया दौड़ कर उसके गले लगती हुई..... भाई, यूँ अचनाक, अच्छा सर्प्राइज़ दिया, वैसे मैं अब भी नाराज़ हूँ अमृता.... हटो ज़रा देखने तो दो मुझे मेरी बहू को. यूँ तो वैसे बहुत बार देखी हूँ, पर आज बहू के रूप मे भी देख लेने दो. अब हर्ष खड़े-खड़े मुँह क्या देख रहे हो, शादी तय हुई है, कोई सगुण तो दो...

फिर मानस ने सुबह हुई पूरी घटना मनु को बता दिया. पूरी बात सुन'ने के बाद एक लंबी सांस खींचता कहने लगा...... वो महिला बोली- मेरी छोड़, तू बता, तू कौन है कुतिया? और मेरे घर में नंगी क्यों है और वो हरामी कहाँ है?

दुश्‍मन का साथ देंगे ! ताकि वो गोद में बैठ कर दाढ़ी मूंड सके ! ताकि हमारा यहां का जमा जमाया निजाम उखाड़ने में वो आपको हथियार बना सके ! चेहऱ्याला कोरफड कशी लावायची नेगी.... बताई थी, पर मनु सर तो मनु सर हैं... उन्हे कौन समझाए... उन्होने एक लाइन मे कहा.... नेगी जी जब गेम मॅनेज की थी तो जैसे आप ने मॅनेज किया वैसे ही उन्होने मॅनेज कर लिया होगा... आइ बिलीव इन माइ पीपल, और मुझे नही लगता किसी ने क़ुटेशन लीक किया है

ब्लू पिक्चर सेक्सी दिखाओ ब्लू पिक्चर सेक्सी

  1. मैंने अपना गाउन उतारा और रितेश की बांहो में अपने को समेट लिया। तभी मुझे हल्की सी आवाज दरवाजे के बन्द होने की आई, इसका मतलब था कि अमित और नमिता दोनों ऊपर आ गये हैं और उन्होंने ही दरवाजा बंद किया है।
  2. पीए.... इसमे हम क्या कर सकते हैं मेडम. ओपन टेंडर है, आप अपना रेट कोट कर दीजिए, जो भी होगा वो टेंडर खुलने के बाद होगा... गुड मॉर्निंग वाली वीडियो
  3. ‘सुबह अपने बच्चों की मौत पर तो मैंने छाती पर पत्थर रख लिया था….मगर आज गांव में जो देखा….इतनी लाशें गिरी हैं कि कोई रोने वाला भी नहीं है.’ कुतिया ने कहा….उदास तन और भरे–भरे मन से. रजत फिर मुझे राज वाली पूरी कहानी बताता है। मैं सुनता गया। सब जानकर झटका लगा। लेकिन वो बी.डी. के बारे में नहीं जानता था। मुझे ये बता दिया था की इसके पीछे कोई तांत्रिक लोल है। इसका नाम सुनकर ऐसी सिचुयेशन पर भी मुझे हँसी आ रही थी, लेकिन छोड़ो। मेरे शक्तिशाली होने का भी उससे ही कोई कनेक्सन था
  4. चेहऱ्याला कोरफड कशी लावायची...Saleem: ji mera loda.. kuch jyada bada aur mota hai jab mei raat ko uski choot maarta tha to ise dard hota tha.. aur wo... मंत्री... उफ़फ्फ़ ये बोल्ड अदा... मजबूर ना कर दे तुम्हारे कपड़े फाड़ने पर.... हालाँकि ऐसा कोई इरादा नही, मुझे अपना पोस्ट प्यारा है, कोई स्कंडले नही चाहिए.
  5. मुझे कराहते हुए देखकर पापाजी मेरे पास आये, मेरे माथे के छुआ और फिर रिसेप्शन पर फोन लगाया, फिर मेरे पास आकर बैठ गये। उनके कहे हुए शब्द मेरे कान में नहीं पड़ रहे थे। फिर मुझे लगा कि मेरे माथे पर गीली पट्टी रखी जा रही है। मेरा जिस्म लगातार तप रहा था। फिर मेरे साथ क्या हुआ, मुझे पता ही नहीं चला। सुलोचना: तू इतना बड़ा हो गया, चेहरे पर सफेद बाल आ रहे है और सर पूरा सफेद होगया लेकिन तुझे इतनी भी समझ नहीं कि औरतों से कैसे बात की जाती है..

साडीवाली भाभी का सेक्स

लोलू- में कुछ नहीं कर सकता हैं। क्योंकी जो काम मैंने किया है, उसकी सजा के रूप में मैंने मेरी सभी शक्तियां और सिधियां खो दी है। क्योंकी एक नवजात बच्चे की आत्मा को मैंने दो भागों में बांटा है।

मनु.... ओये, अब ये तुम्हारी जान सिर्फ़ तुम्हारी नही है. तुम्हारे पापा ने तुम्हे हाथ भी लगाया तो देख लेना... नताली... ओह्ह्ह ये आप के ये मचलते अरमान... 50% डील डन होगा उस रात, इसलिए मैं उस रात आप को 50% सर्विस दूँगी यानी ब्लोवजोब... वो भी मस्त वाली, पर मेरे साथ कोई ज़बरदस्ती ना होगी....

चेहऱ्याला कोरफड कशी लावायची,फिर सूरज ही बोला- भाभी, कई लड़कियों के चूत को मेरे इस लंड ने चोदा है पर जितना मजा आज आया है, वो मजा मुझे पहले कभी नहीं मिला है।

अदिति और साक्षी दोनो हां मे मुन्डी हिला कर आरती और कामया को लेके बाबू के पास चल देती है. तभी कामया बोल पड़ती है..

नमिता बोली- भाई के सामने पहले शर्म आ रही थी, फिर जब भाई ने मेरी तारीफ करनी शुरू की तो जितनी शर्म हया थी, सब लौड़े लग गई।पंजाबी का सेक्सी वीडियो

सलीम: अंजलि तुमने ये गाली दे कर मेरे ईमान और ज़ुबान दोनो को ललकारा है. अब जो में नहीं करना चाहता था मुझे वो भी करना पड़ेगा.. क्या करे क्या ना करे घर के किसी सद्स्य को समझ मे नही आ रहा था, उपर से इस खबर के छपने के बाद शम्शेर ना तो किसी से मिलता था, और ना ही किसी से बात करता था. सब को यही लगा कि बदनामी के कारण शन्शेर को गहरा सदमा लगा है.

देखने वाले जब भी उसको इस हॉट लुक मे देखते तो अपने दिल पर हाथ रख कर ठंडी आहें भरने लगते थे. हालाँकि ये बात अलग थी कि ऑफीस के वर्किंग स्टाफ्स और एमडी फ्लोर अलग-अलग था, इसलिए ऑफीस के मनचले स्टाफ को जब भी स्नेहा को देखना होता तो बस किस्मत के भरोसे ही रहते.

ऐसा तो नहीं था लेकिन वो क्‍या है कि उधर एक लो‍कल मवाली से बड़ा पंगा पड़ गया था, तब कुछ अरसा उधर से नक्‍की करने में ही भलाई दिखाई दी थी ।,चेहऱ्याला कोरफड कशी लावायची भीतर रोशनी हुई लेकिन उसकी कोई प्रतिक्रिया सामने न आई । उसने दरवाजे को धकेला और भीतर कदम डाला । वहीं ठिठककर उसने दरवाजे के बिल्‍ट-इन लॉक का मुआयना किया । ऐसे कोई निशान उसे ताले पर या उसके आसपास दरवाजे पर न दिखाई दिये जिनसे लगता कि उसके पीछे उसे जबरन खोला गया था ।

News